भारत की 3 कंपनियां कोरोना वैक्सीन बनाने के करीब, सीरम का ट्रायल तीसरे फेज में

भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के महानिदेशक डॉ बलराम भार्गव ने मंगलवार को बताया कि भारत बायोटेक और जाइडस कैडिला दूसरे चरण का मानव परीक्षण कर रही है जबकि सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया तीसरे चरण का परीक्षण जल्द ही शुरु करने वाला है। डॉ भार्गव ने केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार मंत्रालय के आज आयोजित संवाददाता सम्मेलन में बताया कि देश में इस वक्त तीन कोरोना वैक्सीन चिकित्सकीय परीक्षण के विभिन्न चरणों में हैं। डॉ भार्गव ने कहा कि कैडिला की कोरोना वैक्सीन का पहले चरण का मानव परीक्षण पूरा हो गया है और दूसरे चरण के परीक्षण के लिए वालंटियर चुने जा चुके हैं। इस वैक्सीन के तीन डोज लगते हैं 28-28 दिनों के अंतराल पर और अभी तीनों डोज बाकी हैं। भारत बायोटेक का भी पहला चरण पूरा हो गया है और अभी उसके परिणाम की समीक्षा की जा रही है। भारत बायोटेक ने भी दूसरे चरण के परीक्षण के लिए वालंटियर का चयन कर लिया है और उन्हें दूसरी डोज लगनी बाकी है। सीरम इंस्टीट्यूट ने कोरोना वैक्सीन के लिए दूसरे चरण के परीक्षण के लिए 100 वालंटियर पर टेस्ट किया और उसके बाद सात-आठ दिन विराम लिया क्योंकि वे तीसरे चरण का परीक्षण शुरू करना चाहते हैं। सीरम इंस्टीट्यूट देशभर की 14 साइट पर 1,500 मरीजों पर तीसरे चरण का परीक्षण करना चाहता है।