Facebool
Twitter
Youtube

उत्तरप्रदेश:अब शादियों में शामिल हो सकेंगे सिर्फ 100 लोग, बढ़ते मामले देख सीएम योगी आदित्यनाथ का फैसला

  • Mahanagartimes
  • 21 November, 2020

राज्य

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस संक्रमण के एक बार फिर से तेजी पकड़ने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी विभागों को हाईअलर्ट पर कर दिया है। टीम-11 के साथ समीक्षा बैठक के दौरान उन्होंने सार्वजनिक जगहों पर विशेष सतर्कता बरतने के साथ ही अब वैवाहिक समारोह में भी सिर्फ सौ लोगों के शामिल होने की अनुमति का निर्देश भी दिया है। सीएम योगी आदित्यनाथ के निर्देश के बाद स्वास्थ्य विभाग के साथ ही नगर विकास विभाग भी सक्रिय हो गया है। प्रदेश में अब वैवाहिक समारोह में सिर्फ सौ लोग ही शामिल हो सकेंगे। कोरोना संक्रमण के मामलों को एक बार फिर बढ़ते देखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शादी समारोह आदि में 200 व्यक्तियों के शामिल होने की छूट को घटाकर 100 करने के निर्देश दिए हैं। सीएम योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर यह व्यवस्था दिल्ली से सटे जिलों में शनिवार से ही लागू हो गई है। गाजियाबाद के नोएडा में वैवाहिक समारोह में सिर्फ सौ लोगों के शामिल होने की अनुमति है। यहां पर भी कोरोना वायरस संक्रमण के फिर से बढ़ते मामलों का असर होने की संभावना है। गौतम बुद्ध नगर के जिलाधिकारी ने बताया कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए अब किसी भी समारोह में अधिकतम सौ लोग ही भाग ले सकेंगे। शासन के इस निर्देश का अनुपालन शीघ्र ही सुनिश्चित कराया गया है। इसका उल्लंघन करने पर नियमानुसार कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी। गाजियाबाद के जिलाधिकारी डॉ. अजय शंकर पाण्डेय ने भी निर्देश जारी कर दिया है। गाजियाबाद में अब शादी समारोह में सिर्फ 100 लोगों के शामिल होने की अनुमति है। जिन लोगों ने पहले से अनुमति ले रखी है अब वह दोबारा से नए नियम के तहत परमिशन लेंगे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पड़ोसी राज्यों विशेष रूप से दिल्ली में कोविड-19 की सेकेण्ड वेव के दृष्टिगत प्रदेश में पूरी सतर्कता बरती जाए। कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग तथा सर्विलांस सिस्टम को सुदृढ़ बनाए रखा जाए। बाहरी राज्य से आने वाले लोगों की प्रभावी कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग की जाए। रेलवे स्टेशन तथा एयरपोर्ट पर कोरोना के दृष्टिगत स्क्रीनिंग की जाए। एम्बुलेंस सेवा को पूरी सक्रियता से संचालित किया जाएफ। उन्होंने कहा कि कोविड-19 से बचाव व उपचार की प्रभावी व्यवस्था को बनाए रखें। इसके बचाव के सम्बन्ध में लोगों को निरन्तर जागरूक किया जाए। इसके लिए गृह, ग्राम्य विकास, नगर विकास, राजस्व, स्वास्थ्य व औद्योगिक विकास विभागों के पब्लिक एड्रेस सिस्टम का उपयोग करें। मुख्यमंत्री ने कोविड-19 से जंग जीतने के लिए इससे दो कदम आगे की सोच रखे जाने पर बल दिया है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 की चेन को तोडऩे में मेडिकल टेस्टिंग की महत्वपूर्ण भूमिका है। यह सुनिश्चित किया जाए कि प्रतिदिन एक तिहाई आरटी-पीसीआर तथा शेष दो तिहाई मेडिकल टेस्ट रैपिड एण्टीजन विधि से हों। सभी लोग मास्क को अनिवार्य रूप से लगाएं। इसके लिए प्रत्येक जनपद में डीएम, एसपी तथा सीएमओ विभिन्न संगठनों एवं स्वयंसेवी संस्थाओं के साथ एक बैठक करें। उन्होंने मास्क न पहनने वालों पर प्रवर्तन की कार्यवाही करने के निर्देश भी दिए।