Facebool
Twitter
Youtube

राजस्थान/अजमेर:जयपुर में हत्या कर नसीराबाद में जलाया पत्नी का शव, पति और उसका साथी गिरफ्तार

  • Mahanagartimes
  • 22 November, 2020

क्राइम

मनमुटाव के चलते शराब के नशे में दिया वारदात को अंजाम


महानगर संवाददाता


अजमेर।


जिले में नसीराबाद थानांतर्गत देराठू में हाइवे के पास 4 नवंबर की सुबह अधजली हालत में मिली युवती की लाश के मामले में पुलिस ने खुलासा कर दिया है। आरोपी कोई और नहीं मृतका का पति ही निकला है, जिसने मनमुटाव के चलते अपने साथी के साथ मिलकर शराब के नशे में वारदात को अंजाम दिया। युवती की पहचान मूलत: पूना की रहने वाली सुख शान्ति उर्फ पूजा उर्फ पायल के रूप में हुई थी।
अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक केकड़ी जयनारायण मीणा ने बताया कि देराठू रोड पर 4 नवम्बर की सुबह 20 साल की युवती की अधजली लाश मिली थी। प्रारम्भिक जांच में पुलिस को पता चला कि युवती को पहले मार कर लाया गया और बाद में यहीं मौके पर पेट्रोल डालकर उसे आग लगा दी। बाद में आरोपी मौके से फरार हो गए। युवती ने जींस पहना हुआ और एक पैर पर टैटू बना व काला धागा भी बंधा हुआ है। बाएं हाथ पर पायल लिखा हुआ था। युवती का शव राजकीय चिकित्सालय के चीरघर में रखवाया गया। 11 नवम्बर को शिनाख्ती के अभाव में मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम कराकर अंतिम संस्कार कर दिया।
यूं हुआ खुलासा :-पुलिस टीम ने जब घटनास्थल के आस-पास फुटेज की जांच की तो पुलिस को जयपुर की ओर से एक कार का आना व कुछ देर बाद ही वापस कार का जाना पता चला। कांस्टेबल श्रीराम व कालू ने कार का पता लगाया तो कार जयपुर की निकली। बाद में जयपुर पहुंचे और कार को जब्त कर संदिग्ध गोठियाना निवासी राजू माली व उसके साथी उडीसा निवासी ओमप्रकाश से पूछताछ की तो दोनों ने हत्या करना कबूल कर लिया,जिसके बाद दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया है।
कॉल गर्ल थी मृतका :- मृतका युवती कॉल गर्ल थी और करीब चार साल पहले राजू माली के सम्पर्क में आई। बाद में राजू ने उससे शादी कर ली। लेकिन इनका मनमुटाव चल रहा था और 3 नवम्बर की रात राजू ने शराब पी और अपने साथी ओमप्रकाश के साथ मिलकर आम्रपाली में रह रही युवती की हत्या कर दी।
दूर जलाने का था इरादा :- आरोपियों ने युवती की लाश को नसीराबाद के पास लाकर पटका और यहीं पर पेटोल डालकर आग लगा दी। पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि उनका ईरादा तो बहुत दूर ले जाकर जलाने का था लेकिन कार में पेट्रोल खत्म होने के कारण यहीं पर जला दिया और बाद में फरार हो गए।